किन्नौर के सांगला घाटी में फंसे पर्वतारोही दल को बचाने के लिए हैलिकाप्टर भेजा

देवलोक ब्यूरो

उत्तराखंड के धौला से रूपिन दर्रे से होकर किन्नौर जिला की सांगला घाटी जाते हुए पर्वतारोही दल की एक महिला सदस्य के घुटने में गंभीर चोट लगने का समाचार प्राप्त हुआ है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के निर्देश पर इस पर्वतारोही दल को निकालने के लिए भारतीय वायु सेना का हैलीकाप्टर प्रयासरत है। यह जानकारी वीरवार को यहां उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने दी।
अमित कश्यप ने कहा कि प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तराखंड से रूपिन दर्रे से होकर सांगला घाटी जाते हुए पर्वतारोही दल की एक महिला सदस्य को घुटने में गंभीर चोट लगी है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में जानकारी मिलते ही उन्हाेंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को अवगत करवाया।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने घटना की सूचना मिलते ही त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिए और पर्वतारोही दल को सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में अतिरिक्त मुख्य सचिव राजस्व, डाॅ. श्रीकांत बाल्दी को उचित स्तर पर समन्वय स्थापित कर कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये।

आज फिर बचाव अभियान शुरु करेंगे 

उपायुक्त ने कहा कि अतिरिक्त मुख्य सचिव राजस्व, डॉ श्रीकांत बाल्दी ने इस संबंध में उचित स्तर पर भारतीय वायु सेना से सम्पर्क किया और वायु सेना द्वारा पर्वतारोही दल को बचाने के लिए एक हैलीकाप्टर भेजा गया।
अमित कश्यप ने कहा कि हैलीकाप्टर ने पर्वतारोही दल के स्थान पर पहुंचकर उतरने का काफी प्रयास किया, किंतु खराब मौसम के कारण हैलीकाप्टर समाचार मिलने तक नहीं उतर पाया था। उन्होंने कहा कि यदि आज प्रकाश रहने तक हेलीकाॅप्टर उतरने में सफल नहीं हुआ, तो कल प्रातः 5 बजे पुनः बचाव अभियान आरंभ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि घायल महिला सुधा भट्टाचार्यजी सहित पर्वतारोही दल के सभी सदस्य ठीक हैं और उन्हें शीघ्र अतिशीघ्र सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

five − 1 =