डीसी शिमला ने पर्यटकों की बढ़ती संख्या को देखते हुए ये नई व्यवस्था की लागू

देवलोक ब्यूरो. जया शर्मा 

भीषण गर्मी से राहत पाने के लिए मैदानी इलाकों से बड़ी संख्या में सैलानी इन दिनों शिमला की ओर रुख कर रहे हैं। शहर में अधिक वाहनों के आने से यातायात व्यवस्था बिगड़ गई हैं। वहीं शहर में मुख्य रूप से सड़क के किनारे स्थित विभिन्न विद्यालयों से संबंधित यातायात प्रबंधन के विषय में बुधवार को बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त शिमला अमित कश्यप ने की।उपायुक्त ने कहा कि सड़क किनारे स्थित विद्यालयों के समीप यातायात व्यवस्था का जायजा लेने के लिए उन्होंने स्वयं बुधवार को प्रातः क्षेत्र का सघन दौरा किया। अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी कानून एवं व्यवस्था प्रभा राजीव तथा उपमंडलाधिकारी शिमला नीरज चांदला भी व्यवस्था का जायजा लेने के लिए उपस्थित रहीं।

इस मौके पर अमित कश्यप ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि पर्यटन सीजन में शिमला शहर में वाहनों की संख्या में काफी बढ़ौतरी होने से यातायात व्यवस्था पर प्रभाव पड़ता है। उन्होंने कहा कि इस समय में विशेषकर प्रातःकाल में विशेषकर सड़क के किनारे स्थित विभिन्न विद्यालयों तक छात्रों को छोड़ने के लिए प्रदेश पथ परिवहन निगम की बसों, टैक्सियों तथा निजी वाहनों का प्रबंधन भी आवश्यक है।

डीसी शिमला उच्च अधिकारियों को निर्देश देते हुए

यह भी निर्णय लिए 

उपायुक्त ने बैठक में उपस्थित विभिन्न विद्यालय प्रबंधन प्रतिनिधियों से विचार-विमर्श के उपरांत यह निर्णय लिया कि 15 तथा 22 जून, 2019 को शनिवार के दिन शिमला शहर के विभिन्न विद्यालयों में अवकाश रहेगा। यह निर्णय सप्ताहांत में पर्यटकों की बढ़ती संख्या के दृष्टिगत लिया गया है। उन्होंने कहा कि पर्यटन सीजन में कुछ विद्यालयों के प्रातकाल के समय में भी परिवर्तन किया गया है। इस दौरान ताराहॉल विद्यालय प्रातः 8 बजे तथा आक्लैंड हाउस विद्यालय के दोनो खंड प्रातः 8.30 बजे आरंभ होंगे। उन्होंने इस संबंध में पथ परिवहन निगम को आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित बनाने के निर्देश भी दिए।

मालवाहक वाहन एवं टैम्पो ट्रैवलर भी समय पर होंगे प्रवेश 

उन्होंने आक्लैंड हाउस प्रबंधन को निर्देश दिए कि विद्यालय के दूसरे गेट को भी प्रातः छात्रों के लिए खोला जाए। उन्होंने विभिन्न विद्यालयों को इस संबंध में व्यवस्थाएं सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए। अमित कश्यप ने पुलिस प्रशासन एवं जिला खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति नियंत्रक को निर्देश दिए कि विभिन्न मालवाहक वाहनों को शिमला शहर में केवल निर्धारित समय में ही प्रवेश करने दिया जाए। उन्होंने कहा कि इस संबंध में जिला प्रशासन द्वारा पूर्व में अधिसूचना जारी की गई है तथा इस अधिसूचना का अक्षःरश पालन सुनिश्चित बनाया जाए। इस अधिसूचना के अनुसार विभिन्न मालवाहक वाहन एवं टैम्पो ट्रैवलर इत्यादि का शिमला में प्रातः 8बजे से 11 बजे तक तथा सांय 4 बजे से 7बजे तक प्रवेश वर्जित है। उन्होंने दूध एवं ब्रैड इत्यादि लाने वाले वाहनों को प्रातः 8 बजे से पूर्व आपूर्ति सुनिश्चित बनाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि सभी मार्गों से निर्माण सामग्री को तुरंत हटाएं।

डीसी शिमला अमित कश्यप बैठक की अध्यक्षता करते हुए

 

गैस सिलेंडर स्कूलों और अस्पताल के सामने से हटाए जाएंगे:

अमित कश्यप ने विभिन्न विद्यालयों एवं अस्पताल इत्यादि के सामने रखे जा रहे गैस सिलेण्डरों को हटाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि यातायात प्रबंधन के लिए विभिन्न विद्यालयों के एनसीसी कैडेटस का प्रयोग भी किया जाना चाहिए।

ये रहे उपस्थित

बैठक में अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी कानून एवं व्यवस्था प्रभा राजीव, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी भूपेन्द्र अत्री, पुलिस उपाधीक्षक यातायात कमल वर्मा, जिला खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति नियंत्रक श्रवण शर्मा, प्रदेश पथ परिवहन निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक देवासेन नेगी, संबद्ध विभागों के वरिष्ठ अधिकारी एवं विभिन्न विद्यालयों के प्रतिनिधि बैठक में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

14 − 13 =