भाजपा के चारों प्रत्याशी रिकॉर्ड मतदान से जीते….कांग्रेस के प्रत्याशी अपने क्षेत्र में भी बढ़त नही ले सके

देवलोक ब्यूरो

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने शिमला में आयोजित पत्रकार वार्ता में हिमाचल में भाजपा को रिकॉर्ड मतदान के लिए धन्यवाद दिया और कहा को इस चुनाव में कुछ ऐसी बातें हुईं जो इतिहास बनकर रहेगी। हिमाचल के 68 विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा को बढ़त मिली ये भी पहली बार ही हुआ है। ये लोकसभा चुनाव सबसे लंबा चला। हिमाचल के इतिहास में आज तक के लोकसभा चुनावों में भाजपा ने सबसे ज़्यादा वोट प्रतिशत हासिल किया। जय राम ने कहा कि वोट शेयर 69 फ़ीसदी से ज़्यादा के साथ हिमाचल देश भर में नम्बर एक रहा है। हिमाचल के 9 विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा ने 30 हज़ार से ज़्यादा बढ़त रही। 34 विधानसभा क्षेत्रों में  20 हज़ार ज़्यादा से ज़्यादा रहा जबकि 21विधानसभा क्षेत्रों में  दस हज़ार की बढ़त रही। इस मर्तबा भाजपा के चारों प्रत्याशी रिकॉर्ड मतदान से जीते। कांग्रेस के प्रत्याशी अपने क्षेत्र में भी बढ़त नही ले सके। मंडी  से आश्रय शर्मा 27 हज़ार से पीछे रहे।  कांगड़ा से पवन काज़ल 23 हज़ार से पिछड़ गए।  सोलन से कर्नल धनी राम शांडिल 16000 से ज़्यादा पिछड़ गए जबकि नैना देवी से रामलाल ठाकुर अपने क्षेत्र से 10000 से ज़्यादा वोटों से पीछे रह गए। कांग्रेस को मात्र 27 फ़ीसदी वोट मिले। रोहड़ू जैसे क्षेत्र से जहां लोकसभा में कभी भाजपा को लीड नही मिली जो इस मर्तबा मिली। सबसे ज़्यादा लीड भाजपा को नालागढ़ से 39000 से ज़्यादा रही। दूसरे नम्बर पर सिराज व तीसरे नम्बर पर जोगिंदर नगर रहा। इस सबका श्रेय पीएम मोदी व राष्ट्रीय अध्यक्ष को जाता है। 2019 की विजय के लिए भाजपा ने 2014 से ही काम शुरू कर दिया था। मोदी व अमित शाह की मेहनत रंग लाई परिणामस्वरूप भाजपा प्रचंड बहुमत के आंकड़े तक पहुंची। 106 जनसभाओं मुख्यमंत्री के रूप में हिमाचल में चुनाव के दौरान की। कांग्रेस इतनी बड़ी हार के बाद सदमें में है। 15 माह की सरकार के दौरान बहुत कुछ समझा भी सुना भी लेकिन जिन लोगों को गलतफहमीयां थी वह भी चुनावी परिणामों से दूर हुई है। सुखराम कहते थे कि विधानसभा चुनाव  में  मंडी की सीटें उनकी वजह से मिली। फिर  उनके पोते को मंडी से भी बढ़त क्यों नही मिल पाई। वही विपक्ष ने जब एग्जिट पोल देखे तो ईवीएम को लेकर रोना शुरू कर दिया था। कांग्रेस मुक्त भारत हो गया है। अब कांग्रेस परिवार मुक्त होने की ओर अग्रसर है। क्योंकि राहुल गांधी अपनी परम्परागत सीट भी हार गए। पीएम मोदी सिर्फ देश के लिए काम करते है बाकी कुछ नही करते है। वही राष्ट्रवाद के नाम पर भाजपा जीती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

4 × four =