शिव मंदिर चढ़ा आग की भेंट,काली और गण मंदिर बचे सुरक्षित,

जया शर्मा.देवलोक न्यूज शिमला

राजध्रानी शिमला के रेडिसन होटल के समीप शांकली सरकारी स्कूल से 300 मीटर की दूरी पर रविवार देर रात को शिव मंदिर आग की भेंट चढ़ गया। शिव मंदिर में आग लगने की सूचना अग्निशमन विभाग को रात 11 बजकर 46 मिनट पर मिली। जैसे ही मालरोड़ अग्निशमन केंद्र से बड़ा वाटर टैंडर अपने दलबल के साथ दुर्घटनास्थल के लिए रवाना हुआ वैसे ही यह वाटर टैंडर रेडीसन होटल के नाले के तंग मोड़ में फंस गया,यहां से आगे नहीं निकल पाया,तब तक छोटा शिमला अग्निशमन केंद्र से छोटा वाटर टैंडर भी मौके पर पहुंच गया और इस तंग मोड़ से आगे निकल पाया और घटना स्थल पर पहुंचा।  दो वाटर टैंडर के साथ मौके पर पहुंचे 11 जवानों  ने आग बुझाने के लिए कड़ी मशक्कत की, आठ  हॉज जोड़कर शांकली नाले में बने इस मंदिर की आग पर काबू पाया। यह शिव मंदिर धजीनुमा यानी ईंट,पत्थर और मिटटी की दीवार व ऊपर से चादर से ढांपकर बनाया गया था। शिव मंदिर में चांदी की मूर्तियां,दान पात्र और भंडारे का रखा समान व बर्तन जल गए। सोमवार को यहां भंडारा रखा गया था।

काली माता और गण मंदिर सराएं सुरक्षित बचाए

इस शिव मंदिर के साथ लगते  छोटे -छोेटे मंदिरों गण मंदिर, काली माता का मंदिर, अस्थाई रुप से बनाई गई सराएं को अग्निशमन ने सुरक्षित बचा लिया।वहीं साथ लगते चीड़ और वान के जंगल  को आग लगने से बचा लिया गया। वहीं शिव मंदिर के जलने से लगभग साठ हजार रुपए का नुकसान आंका गया हैं। जबकि बचाई गई संपत्ति  दस लाख रुपए हैं।

अग्निशमन विभाग के डिविजनल फायर ऑफिसर डीसी शर्मा ने बताया कि शांकली नाले के पास बना यह शिव मंदिर जल गया जबकि इसके साथ छोटे -छोटे बने अन्य मंदिरों को सुरक्षित बचा लिया गया हैं।  आग कैसे लगी इस कारणों की जांच की जा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

2 × 4 =