अटल सुरंग मनाली और लेह के बीच का 46 किमी का फासला कम करेगी

सीमेंन्स ने अटल टनल रोहतांग में स्टेट ऑफ़ द आर्ट ऑटोमेशन टेक्नोलॉजीज को लागु किया

जया शर्मा.शिमला

 अटल टनल दुनिया की सबसे बड़ी और उच्चतम उचाई वाली सुरंग में से एक है और इसका उद्घाटन भारत के प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के द्वारा किया जाएगा। यह सुरंग मनाली और लेह के बीच का 46 किमी का फासला कम करेगी।सीमेंन्स की स्टेट ऑफ़ द आर्ट टेक्नोलॉजीज की कार्यकारी कुशलता 10000 फ़ीट और अधिक उंचाई पर जहां की  नैसर्गिक तापमान 15 से  20 डिग्री सेल्सियस के बीच होता है।वहां सुरक्षा और कुशलता को बढ़ावा देगी । विश्व का प्रौद्योगिकी लीडर सीमेंन्स ने प्रतिष्ठित परियोजना के लिए भागीदारी की और इस परियोजना में नवीनतम सुरंग ऑटोमेशन और डिजिटल टेक्नोलॉजीज को लागु किया है। रोहतांग पास पर स्थित इस सुरंग की संपूर्ण लंबाई 9.02 किमी है और यह  10000 फिट  के ऊंचाई पर है जो इसे विश्व की सबसे लंबी उचाई बनाती है। सीमेंन्स की टेक्नोलॉजीज विद्युतीकरण, स्वचालन, स्थानीय और रिमोट निगरानी के लिए डिजिटलीकरण समाधान साथ ही कनेक्टिविटी,प्रकाश व्यवस्था, वेंटिलेशन,बिजली वितरण और फायर सेफ्टी सिस्टम दुनिया की सबसे लंबी और सबसे ऊँची सुरंगों में से एक को प्रदान कर रही है।इस अवसर पर सुनील माथुर प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी सीमेंन्स लिमिटेड ने कहा की इस सफलता के लिए सरकार को बधाई दी हैं।सीमेंन्स ने इस ऐतिहासिक और उच्च प्रौद्योगिकी परियोजना के साथ सहयोग करके बहुत गर्व महसूस किया है जो की लंबी दूरी में न केवल लोगों और सामानों की आवाजाही बढ़ाने के लिए आवश्यक है। बल्कि  सुरक्षा  के लिए भी महत्वपूर्ण है। सीमेंन्स ने उनके नवीनतम तकनीकों को यहां इनस्टॉल किया ताकि वे  सुनिश्चित कर सके कि विद्युत, वेंटिलेशन और फायर सेफ्टी सिस्टम को तैनात किया जा सके और सबसे चुनौतीपूर्ण पर्यावरणीय स्थिति के अंतर्गत पूरी तरह से भरोसेमंद और सुरक्षित तरीके से लगातार नजर रख सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

2 × 5 =