किसानों के लिए वरदान सिद्ध होगी प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजनाः वीरेंद्र कंवर

किसान प्रतिनिधियों को प्राकृतिक खेती के बारे में किया जागरूक
देवलोक न्यूज.शिमला

लोगों को रसायनमुक्त खाद्य पदार्थ मुहैया करवाने और किसानों की आय में वृद्धि के लिए प्रदेश सरकार की ओर से शुरू की गई महत्वकांक्षी योजना प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के तहत किसान प्रतिनिधियों को कृषि विभाग की ओर से चलाई गई विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी देने के लिए एक दिवसीय किसान प्रतिनिधि कार्यशाला का वीरवार को आयोजन किया गया। कार्यशाला के दौरान कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि किसान प्रतिनिधि सरकार की योजनाओं और किसानों के बीच में एक कड़ी के रूप में काम करते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से शुरू की गई प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के सफल परिणाम देखने को मिल रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अभी तक 77,107 किसानों ने 45 हजार बीघा से अधिक भू-भाग में प्राकृतिक खेती को शुरू कर दिया है। मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने वर्ष 2022 तक प्रदेश को प्राकृतिक खेती राज्य बनाने का लक्ष्य रखा है और इसके लिए क्रमबद्ध तरीके से काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती कर रहे हजारों लोगों के ऐसे उदाहरण खड़े हो चुके हैं जिनमें किसानों की कृषि लागत में कमी आने के साथ मुनाफ़ा कई गुना बड़ गया है। उन्होंने भाजपा के किसान मोर्चा के प्रतिनिधियों को सरकार की इस योजना को हरेक किसान तक पहुंचाने के लिए कहा।
पूरी तरह वैज्ञानिक विधि है प्राकृतिक खेती
विशेष सचिव कृषि एवं राज्य परियोजना निदेशक प्राकृतिक खेती राकेश कंवर ने कहा कि सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती विधि पूरी तरह वैज्ञानिक है और इसमें बताए गए सभी आदान वैज्ञानिक अनुसंधान के बाद ही अनुमोदित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस खेती विधि को बड़ी तेजी से किसान-बागवान अपना रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती आज समय की मांग है और यही एकमात्र ऐसी विधि है जो भविष्य के लिए कृषि क्षेत्र को संरक्षित रख सकती है। कार्यशाला के दौरान प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के कार्यकारी निदेशक प्रो. राजेश्वर सिंह चंदेल ने प्राकृतिक खेती विधि की तकनीक के बारे में किसान मोर्चा के प्रतिनिधियों को विस्तार से जानकारी दी। साथ ही किसान प्रतिनिधियों की ओर से आए सुझावों और सवालों के भी जवाब दिए। इसके अलावा इस मौके पर कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक डाॅ आनंद पराशर ने किसानों के लिए विभाग की ओर से चलाई जा रही 31 योजनाओं के बारे में जानकारी दी।
इस मौके पर भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष डाॅ राकेश शर्मा ने कहा कि सरकार की ओर से किसानों के हितों के लिए अनेकों योजनाएं चलाई गई हैं, लेकिन इन योजनाओं के जानकारी के अभाव के चलते किसान इनका लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। इसलिए यह हमारा कर्तव्य बनता है कि हम किसानों तक इन योजनाओं को पहुंच बनाएं ताकि वे इनका लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना किसानों के लिए बहुत ही लाभकारी योजना साबित होने वाली है और किसान मोर्चा इस योजना समेत अन्य योजनाओं को भी किसानों तक पहुंचाने के लिए एक अभियान को शुरू करेगी। कार्यशाला में कृषि निदेशक, संयुक्त निदेशक, उप निदेशक कृषि शिमला और भाजपा किसान मोर्चा के सभी जिलों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

16 + seven =