कोविड-19 की रोकथाम के संदर्भ में अधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन

देवलोक न्यूूज. शिमला

अतिरिक्त उपायुक्त अपूर्व देवगन की अध्यक्षता में आज बचज भवन सभागार में कोविड-19 की रोकथाम के संदर्भ में उपमण्डल शिमला शहरी व उपमण्डल शिमला ग्रामीण के अधिकारियों, नगर निगम वार्ड पार्षद एवं व्यापार मण्डल के

बैठक का आयोजन किया गया।
उन्होंने बताया कि बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते शिमला ग्रामीण व शहरी वार्ड तथा पंचायत स्तर पर कोविड जागरूकता समितियों का गठन किया जाएगा, जिसमें पार्षद एवं पंचायत प्रधान को उस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया जाएगा तथा कमेटी में 6 से 7 व्यक्तियों को सदस्य के रूप में नियुक्त किया जाएगा ताकि बढ़ते संक्रमण को रोका जा सके।
उन्होंने बताया कि समितियों द्वारा हर वार्ड तथा पंचायतों में 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्तियों तथा सह-रूग्णता वाले लोगों की पहचान करके सूची तैयार की जाएगी, जिसके उपरांत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी के सहयोग से उनकी रेंडम सैंपलिंग की जाएगी।
उन्होंने बताया कि संबंधित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के द्वारा घर में पाॅजिटिव व्यक्ति का ध्यान रखा जाएगा तथा प्रत्येक मरीज को आॅक्सीमीटर सहित जरूरी मेडिकल किट भी  उपलब्ध की जाएगी। उन्होंने बताया कि प्रत्येक वार्ड में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा अन्य अधिकारियों के मोबाईल नम्बर भी सांझा किए जाएंगे।
उन्होंने बताया कि समितियों द्वारा लोगों को धार्मिक, सामाजिक एवं  पारिवारिक कार्यक्रमों में भीड़ इक्ट्ठी न होने के प्रति जागरूक किया जाएगा। उन्होंने सभी पार्षदों को अपने वार्ड में कमेटी का गठन करके सूची को कार्यालय में भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि शादियों एवं अन्य समारोहों में भीड़ को कम करने की आवश्यकता है, जिसके लिए चुने हुए प्रतिनिधि एवं व्यापार मण्डल के सहयोग की आवश्यकता है।उन्होंने बताया कि सैम्पलिंग के बाद क्वाॅरेंटाइन पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है, जो जनभागीदारी के सहयोग से ही सम्भव है। उन्होंने सह-रूग्णता वाले लोगों को समय-समय पर अपनी कोविड जांच करवाने की अपील की। उन्होंने बताया कि जिला शिमला में ‘नो मास्क, नो एन्ट्री, नो सर्विस’ अभियान का भी शुभारंभ किया जाएगा, जिसमें आने वाले दिनों में सभी विभागों, कार्यालयों एवं व्यापार मण्डलों के सहयोग की आवश्यता होगी। उन्होंने बताया कि ‘नो मास्क, नो एन्ट्री, नो सर्विस’ का मुख्य उद्देश्य जहां लोगों को बिना मास्क के अनुमति नहीं रहेगी वहीं कार्यालयों में भी बिना मास्क के कोई भी सेवाएं नहीं दी जाएगी।  उन्होंने बताया कि जिला के सभी ग्रामीण इलाकों में भी ‘नो मास्क, नो एन्ट्री, नो सर्विस’ अभियान को शुरू किया जाएगा।

इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त ने कोरोना जागरूकता शपथ भी दिलवाई।इस अवसर पर उपमण्डलाधिकारी शहरी मंजीत शर्मा, उपमण्डलाधिकारी ग्रामीण मनोज कुमार, जिला निगरानी अधिकारी डाॅ. राकेश भारद्वाज, डाॅ. पवन, मुख्य चिकित्सा अधिकारी नगर निगम शिमला डाॅ0 चेतन चैहान, तहसीलदार शिमला शहरी सुमेध शर्मा, तहसीलदार शिमला ग्रामीण संजीव गुप्ता, समस्त नगर निगम पार्षद एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

one × 5 =