पर्यावरण की रक्षा के लिए प्रभावी कदम उठाने चाहिए:राज्यपाल

राज्यपाल ने स्वयं झाड़ू उठाकर सफाई कर स्वच्छता का  दिया संदेश 

 

जया शर्मा .देवलोक न्यूज.शिमला

राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने बुधवार को नगर निगम शिमला द्वारा रिज स्थित पदमदेव परिसर में रिवॉली की ओर लगती पहाड़ी में आयोजित स्वच्छता अभियान में भाग लिया। उन्होंने स्वयं झाड़ू उठाकर सफाई कर स्वच्छता का संदेश दिया। नगर निगम शिमला की महापौर कुसुम सदरेट, उपमहामौर राकेश शर्मा, पार्षद और निगम के कर्मियों ने भी स्वच्छता अभियान में राज्यपाल के साथ भाग लिया। यह अभियान लगभग एक घंटे तक चला और राज्यपाल ने सभी को स्वच्छता के लिए प्रेरित किया।

इसके उपरान्त मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में राज्यपाल ने कहा कि आज दुनिया में वैश्विक उष्मीकरण एक गंभीर चुनौती बन गया है और हमें बहुमूल्य पर्यावरण की रक्षा के लिए प्रभावी कदम उठाने चाहिए ताकि मानवीय जीवन को बचाया जा सके।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश को उसके नैसर्गिक सौंदर्य के लिए जाना जाता है। ईश्वर के दिए इस बहुमूल्य खजाने को बचाने के लिए हम सबको मिलकर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में हर वर्ष लाखों पयर्टक आते हैं। राज्य में पयर्टकों को और अधिक आकर्षिक करने के लिए हमारे शहरों और कस्बों को साफ-सुथरा रखा जाना चाहिए, जिसके लिए इस तरह के स्वच्छता अभियान कारगर सिद्ध हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान का हिस्सा बनकर हम ना केवल पर्यावरण को बचा सकते हैं बल्कि स्वास्थ्य की दृष्टि से भी यह उपयोगी सिद्ध हो सकता है।

उन्होंने कहा कि नगर निगम शिमला द्वारा इस स्थान पर पार्क बनाने पर विचार किया जा सकता है और निगम इस जमीन को शिमला प्रेस क्लब को देने पर विचार करे। उन्होंने कहा कि निगम ने जानकारी दी है कि शहर में जहां पर भी निगम की जमीन है उसे गैर सरकारी संगठनों को रख-रखाव के लिए देने पर विचार चल रहा है और वर्ष बाद इसका आकलन किया जाएगा। जिस गैर सरकारी संगठन ने सबसे बेहतर कार्य किया होगा उसे सम्मानित किया जाएगा। राज्यपाल के सलाहकार डॉ. शशीकांत शर्मा तथा नगर निगम शिमला के आयुक्त पंकज ललित ने भी स्वच्छता अभियान में भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

20 + 13 =